Sunday

शोहरत और कामयाबी का नशा

शोहरत और कामयाबी का नशा इस कदर सर चढकर बोलता है कि इंसान अपने पुराने साथी और दिन भी भूल जाता है। ऐसा ही नशा ऐश्वर्या राय बच्चन के सर पर भी चढा हुआ मालूम होता है।यही वजह है कि जब उससे मिलने उसकी पुरानी दोस्त स्वेता मेनन आई तो ऐश ने उससे अच्छा व्यवहार करना तो दूर उसे पहचानने से ही इंकार कर दिया. बेचारी स्वेता ऐश के इस व्यवहार से दुखी होकर वापस चली गई.ज्ञात हो कि स्वेता और ऐश्वर्या राय दोनो ने मिस इंडिया प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था और दोनो एक महिने की रिहर्सल के लिए गोवा के फाइव स्टार होटल में ठहरे थे और दोनो एक ही कमरे में साथ साथ थे.इस दौरान दोनो की अच्छी दोस्ती हो गई थी. यही वजह थी कि जब वह काफी अर्से बाद सिकंदर खेर की फिल्म समर आफ 2007 की पार्टी में हिस्सा लेने आई तो वह ऐश्वर्या राय से मिलने की भी इच्छुक थी.वह ऐश की बेताबी से प्रतिक्षा कर रही थी और जैसे ही ऐश आई तो वह उसे हैलो बोलने गई लेकिन ऐश ने कोई उत्साह नहीं दिखाया और न ही स्वेता से कोई बात की. उसने स्वेता को पूरी तरह नजरांदाज कर दिया. ऐश की इस बेरुखी से स्वेता हैरान रह गई.

No comments: