Monday

डालमिया ने की हेराफेरी !


भारतीय क्रिकेट बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष जगमोहन डालमिया ने अपने कार्यकाल के दौरान बीसीसीआई कोष से दो करोड़ 90 लाख रुपए का गबन किया। बीसीसीआई के मार्च 2006 में दायर मामले पर कार्रवाई करते हुए आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने पाया कि डालमिया ने कानूनी शुल्क के लिए जमा राशि को अन्य खर्चों में व्यय किया, जिनमें उनके व्यक्तिगत फोन बिल का भुगतान भी शामिल है। पुलिस संयुक्त आयुक्त (अपराध) राकेश मारिया ने कहा कि भारतीय कर विभाग ने लंदन से चलाए जा रहे पिलकाम खाते पर 64 मामले दर्ज ‍किए हैं। पिलकाम पाकिस्तान, भारत और श्रीलंका में 1996 में आयोजित विश्वकप की संयुक्त आयोजन समिति थी। उन्होंने कहा कि अपराध शाखा अब स्थानीय अदालत में डालमिया, गौतम दत्ता और केएम चौधरी के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल करेगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में जाँच अभी जारी है और संभावना है कि आरोप-पत्र में कुछ और लोगों के नाम जुड़ेंगे। उन्होंने कहा कि कानूनी मामलों के खर्चे के लिए छह खाते खोले गए थे और इसमें से कोलकाता में केवल एक खाता खोला गया, जिसमें छह करोड़ 92 लाख रुपए जमा किए गए थे। मारिया ने कहा कि दस साल से अधिक साल तक बीसीसीआई अध्यक्ष रहे डालमिया ने फोन बिल, होटल बिल, कार का किराया तथा विदेशी विनिमय और स्टेशनरी की खरीदारी में राशि की हेराफेरी की। उन्होंने कहा कि दो करोड़ 90 लाख रुपए में से 85 लाख रुपए तो केवल फोन बिल के ही चुकाए गए। डालमिया ने अपने व्यक्तिगत फोन बिल भी इससे चुकता किए। इनमें से उनकी माँ के नाम पर दर्ज एक फोन तथा उनकी तीन कंपनियों के फोन शामिल हैं।

No comments: