Thursday

अब ब्लाग पर हिंदी कॉमिक्स


हिंदी ब्लॉग की दुनिया में लगातार ही नए प्रयोग हो रहे है। तकनीक के साथ कदम बढ़ाते कुछ ब्लागर अब हिंदी कॉमिक्स को लेकर प्रयोग कर रहे है। बचपन में चाचा चौधरी, साबू, बिल्लू, पिंकी नागराज जैसे कॉमिक्स चरित्रों के प्रति एक अलग ही दीवानगी होती थी। इसी दीवानगी को कुछ ब्लॉगर ऑन लाइन तरीके से आगे बढ़ा रहे है।
पुनीत पांडे और प्रतीक द्वारा चलाए जा रहे ब्लॉग 'हिंदी ब्लॉग्स' में कॉमिक्स को लेकर लगातार चर्चा होती रहती है। कॉमिक्स के विभिन्न पात्रों को लेकर इस ब्लॉग में रोचक जानकारियां दी गई है। इसके साथ ही कई कॉमिक्स प्रकाशकों के लिंक भी यहां दिए जाते है। एक पोस्ट में ब्लॉग के प्रति गहरी रूचि को उजागर करते हुए पुनीत पांडे ने लिखा, 'शायद ही कोई ऐसा हो जिसने चाचा चौधरी और साबू के किस्से नहीं पढ़े हों। चाचा चौधरी के कॉमिक्स कुछ अजीब ही होते हैं। चाचा चौधरी को मैंने किसी भी कॉमिक्स में बुद्धिमतापूर्वक काम करते नहीं देखा, सब कुछ संयोग से अपने हो जाता है। फिर भी अंत में लिख दिया जाता है- चाचा चौधरी का दिमाग कंप्यूटर से भी तेज है!'
ब्लॉग जगत में कॉमिक्स के पात्रों को लेकर सबसे अधिक बातें होती है। साथ ही इन पात्रों की तस्वीरे भी पोस्ट की जाती है। इन ब्लॉगों पर दी गई टिप्पणियां भी मजेदार होती है। एक टिप्पणीकार ने लिखा, 'पौराणिक कथाओं के पात्रों से मेरा पहला परिचय अमर चित्र कथा के माध्यम से ही हुआ। मुझे प्राण, बिल्लू और पिंकी आज भी पसंद है।' प्रतीक ने एक पोस्ट में लिखा, 'कॉमिक्स की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इससे बच्चों में पढ़ने के प्रति गहरा रुझान पैदा हो जाता है जो बाद में दूसरी बौद्धिक पुस्तकों के अध्ययन के लिए भी प्रेरित करता है।' उन्होंने लिखा कि कॉमिक्स में प्रयोग की जाने वाली हिंदी काफी अच्छी और स्तरीय होती है जो पढ़ने वालों के लिए आगे चलकर नींव का काम करती है।
साभारःजागरण

No comments: