Total Pageviews

Sunday

55 रुपये की खातिर छात्राओं के कपड़े उतारे

सिजुआ, कतरास [धनबाद]। आठवीं क्लास की एक छात्रा के रुपये की चोरी का खामियाजा कक्षा की अन्य छात्राओं को इस कदर भुगतना पड़ा कि उन्हें तलाशी के नाम पर अपने कपड़े उतारने पड़े और यह कार्य स्कूल के हेडमास्टर के निर्देश पर हुआ। इस घटना के बाद अब छात्राएं स्कूल जाने के नाम से भय खाने लगी हैं। वहीं भड़के अभिभावकों ने स्कूल पहुंचकर हंगामा किया और छात्राओं के वस्त्र उतारकर उनकी तलाशी लेने का आदेश देने वाले प्रधानाध्यापक सहित एक अन्य शिक्षक की जमकर धुनाई कर डाली।
धनबाद बीडीओ स्मृति कुमारी भी भारी संख्या में पुलिस के साथ मौके पर पहुंची और अभिभावकों को समझा-बुझाकर शांत कराया। आक्रोशित अभिभावक आरोपी प्रधानाध्यापक को अविलंब वहां से हटाने की मांग पर अड़े थे। मानवता को शर्मसार कर देने वाली यह घटना सिजुआ के मोदीडीह बालिका उच्च विद्यालय की है। घटना के बाबत अभिभावकों व कक्षा आठ की छात्राओं ने बताया कि शुक्रवार को कक्षा के दौरान ही छात्रा नाजिया परवीन के 55 रुपये चोरी हो गए। इस बात की शिकायत छात्रा ने प्रधानाध्यापक मो. सरफुद्दीन से की। प्रधानाध्यापक ने विद्यालय की ही तीन शिक्षिकाओं को मामले की छानबीन का निर्देश दिया। प्रधानाध्यापक से मिले निर्देश का इन शिक्षिकाओं ने इस कदर पालन किया कि एक पल के लिए मानवता भी शर्मसार हो गई। तीनों शिक्षिकाओं ने भरी कक्षा में ही एक-एक छात्रा के वस्त्र आदि उतारकर उनकी तलाशी लेनी शुरू कर दी। ऐसा करीब एक दर्जन छात्राओं के साथ किया गया। यह देख कक्षा की अन्य छात्राएं जोर-जोर से रोने लगी और जांच का विरोध करने लगीं। छात्राओं का विरोध देख शिक्षिकाओं ने तलाशी लेना बंद कर दिया।
इधर, कक्षा से निकली कुछ छात्राओं ने घर जाकर इसकी जानकारी अभिभावकों को दी। आक्रोशित अभिभावक शनिवार को स्कूल खुलने के साथ ही विद्यालय पहुंच गए तथा घटना का विरोध करने लगे। अभिभावक प्रधानाध्यापक सहित तलाशी लेने वाली शिक्षिकाओं को वहां से हटाने की मांग कर रहे थे। अभिभावकों ने इस दौरान प्रधानाध्यापक को एक शिकायत पत्र भी देना चाहा जिसे प्रधानाध्यापक ने लेने से मना कर दिया। इस पर अभिभावकों का आक्रोश भड़क उठा और वे हंगामा मचाने लगे। देखते ही देखते हजारों अभिभावक विद्यालय परिसर में जुट गए तथा प्रधानाध्यापक मो। सरफुद्दीन सहित सहायक प्राचार्य राजीव कुमार की जमकर पिटाई कर दी। इधर, मौके की नजाकत को देखते हुए तलाशी लेने वाली तीनों शिक्षिकाएं भाग खड़ी हुई। इधर, घटना की खबर पाकर स्कूल के सचिव सुरेंद्र सिंह, अध्यक्ष राम गोपाल सिंह, सदस्य केबी सहाय, शकील अहमद, उदय गुप्ता, एएन झा आदि वहां पहुंच गए मगर भीड़ उनकी कोई भी बात सुनने को तैयार नहीं थी। सूचना पाकर केंदुआडीह इंस्पेक्टर सतीश चंद्र झा, तेतुलमारी थानेदार अखिलेश मंडल, लोयाबाद थानेदार दिनेश राणा, जोगता थानेदार सदल बल मौके पर पहुंच गए तथा लोगों को समझाना चाहा। अभिभावकों को शांत नहीं होता देख आसपास के थानों की पुलिस को बुलाकर इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। बाद में पुलिस अधिकारियों के अनुरोध पर अभिभावकों का दल जोगता थाने पहुंचा व पुलिस के पास घटना की लिखित शिकायत की। मामले को ले पुलिस ने अभिभावकों की शिकायत पर आरोपी शिक्षकों के खिलाफ कांड अंकित कर आवश्यक कार्रवाई की बात कही। छात्रा नेहा कुमारी ने प्रधानाध्यापक सहित सचिव सुरेंद्र सिंह, राजीव कुमार सिंह आदि पर माफी नहीं मांगे जाने पर भविष्य बर्बाद कर देने व दु‌र्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कांड अंकित कराया है। वहीं स्कूल पक्ष की ओर से प्रधानाध्यापक ने शामो दत्ता, शालो दत्ता, अनंतो चटर्जी, प्रसादी भुइयां, आनंद चटर्जी, राजेश नोनियां, धीरज चौहान, दिनेश चौहान, विनोद चौहान, महेन्द्र रजवार, राजू चौहान, सूर्यदेव यादव, मुखलाल चौहान व अन्य के खिलाफ जानलेवा हमला कर कागज गायब करने का आरोप लगाते हुए पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है। बीडीओ स्मृति कुमारी भी शनिवार को विद्यालय पहुंची और घटना की जानकारी लेने के बाद जरूरी कार्रवाई का भरोसा दिलाया।
सौजन्यः जागरण

No comments: