Total Pageviews

Wednesday

एसएमएस भेज मांगते हैं भीख

मोबाइल फोन आज हर किसी के काम आ रहा है। अपहर्ताओं ही नहीं, भिखारियों के भी। अपहर्ता फोन के जरिए फिरौती मांगते हैं तो भिखारी भीख मांगने के लिए लोगों को एसएमएस भेजते हैं। पाकिस्तान में भिखारियों ने मोबाइल फोन को अपने धंधे का हथियार बना लिया है।
पाकिस्तान के भिखारी हाईटेक जरूर हो गए हैं, लेकिन भीख मांगने का उनका अंदाज वही पुराना है। एसएमएस के जरिए भीख मांगते हुए भी वे अल्लाह को नहीं भूलते। उन्हीं के नाम पर भीख देने को कहते हैं। मसलन, लोगों के पास इस तरह के एसएमएस पहुंचते हैं, मैं एक गरीब आदमी हूं। मेरी बेटी अस्पताल में भर्ती है। यदि आप अल्लाह में यकीन रखते हैं तो कृपया मुझे दस रुपये देने का कष्ट करें। अल्लाह आपको बरकत देगा और हर तरह की परेशानियों से दूर रखेगा। हाईटेक भिखारियों ने अपनी औकात भी ज्यादा नहीं बढ़ाई है। वे एसएमएस भेज कर ज्यादा से ज्यादा सौ रुपये की ही मांग रखते हैं। व्यवसायी मुहम्मद उस्मान का दावा है कि उन्हें हर दिन ऐसे दस मैसेज मिलते हैं। अखबार डेली टाइम्स ने उस्मान के हवाले से लिखा है, इन मैसेज को नजरअंदाज करना मुश्किल है। दरअसल, अल्लाह के नाम पर मांगे जाने पर कई लोग असमंजस में पड़ जाते हैं। यूनुस नाम के एक शख्स ने तो इन अनाम संदेशवाहकों को पैसे भेजना भी शुरू कर दिया है। उनका कहना है, यह जाने बिना कि मैसेज किसने भेजा है, मैं अल्लाह के नाम पर पैसे दे देता हूं। हालांकि उनका मानना है कि भिखारियों को लोगों को ब्लैकमेल नहीं करना चाहिए।

6 comments:

कुश एक खूबसूरत ख्याल said...

बड़ी दिलचस्प बात है ये तो..

PD said...

मस्त है जी.. मुझसे तो कोई भगवान या अल्लाह के नाम पर पैसे मांगता है तो मैं उल्टा दुत्कार देता हूं.. अरे भाई जिसके बारे में मैं कुछ जानता नहीं हूं, जिसे कभी देखा नहीं- कभी मिला नहीं उसपर भरोसा कैसे करूं?? :D

mamta said...

मजेदार ख़बर ।
मोबाइल एक यही इतेमाल बाकी रह गया था। वो भी शुरू हो गया।

lovely kumari said...

वाह क्या बात है नये युग के हाई टेक भिखारियों की :-)

शोभा said...

संतोष जी
अच्छा लिखा है । आज यही सच है।

Udan Tashtari said...

रोचक, मजेदार!!