Thursday

बेटी को बनाया मां

विएना: अपनी बेटी को 24 साल तक तहखाने में बंद कर उसके साथ रेप करने वाले ऑस्ट्रिया के जोसेफ फ्रित्ज ने कहा है कि मैं शैतान नहीं हूं। अगर ऐसा होता तो मैं अपनी सबसे बड़ी बेटी को मर जाने देता। गौरतलब है कि घरेलू यौन हिंसा के अब तक के सबसे भयानक केस में 73 साल के फ्रित्ज ने अपनी बेटी एलिजाबेथ को 24 साल पहले घर के नीचे बने साउंड प्रूफ तहखाने में बंद कर दिया था। उस वक्त एलिजाबेथ की उम्र महज 18 साल थी। इस कैद के दौरान फ्रित्ज ने लगातार अपनी बेटी के साथ शारीरिक संबंध कायम किया, जिससे कुल 7 बच्चे पैदा हुए। पिछले दिनों उनमें से सबसे बड़ी 19 साल की बेटी कर्सटन की अचानक तबीयत बिगड़ने पर फ्रित्ज ने उसे हॉस्पिटल ले जाने का फैसला किया। इसी के बाद इस केस के बारे में खुलासे हुए। फ्रित्ज ने अपने वकील के हवाले से कहा है कि अगर मैं चाहता तो बच्चों को मर जाने देता। ऐसी सूरत में किसी को भी पता नहीं चलता, लेकिन मैं राक्षस नहीं हूं। फिलहाल कोमा में चल रही कर्सटन को 19 अप्रैल को हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया था। उसके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। डॉक्टरों का कहना है कि कैद इसकी एक वजह हो सकती है।

No comments: