Sunday

बेटा नहीं जना तो जिंदा जला दी गयी

शनिवार की सुबह चार बेटियों की एक मां को बेटा न पैदा करने के लिए ससुरालियों ने जलाकर मार डाला। देवरिया के खुखुन्दू थाना क्षेत्र के ग्राम नूनखार में हुयी इस हृदयविदारक घटना को अंजाम देने में उसका पति भी शामिल था। इस काम को पति,जेठानी और सास-ससुर ने मिलकर अंजाम दिया। इसके बाद सभी मौके से फरार हो गये। पुलिस ने अभागन बहू के अधजले शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
प्राप्त विवरण के अनुसार तड़के 4 बजे पड़ोसियों को किसी के जलने की बदबू महसूस हुयी। लोगों ने खोज बीन शुरू की। पता चला कि इन्द्रजीत तिवारी पुत्र फुलेना तिवारी के मकान से धुंआ निकल रहा है। बड़ी कोशिशों के बाद भी घर का फाटक नहीं खुला तो उसे तोड़ कर लोग अंदर घुसे। अंदर भयानक दृश्य था। कण्डे की चिता सजी हुयी थी और उस पर इन्द्रजीत की 29 वर्षीय पत्‍‌नी विन्ध्यवासिनी सुलाकर आग लगाई गयी थी। घर में परिजन नहीं थे।
लोगों ने इसकी सूचना मुकामी पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची खुखुन्दू पुलिस ने चिता से विन्ध्यवासिनी का जलने से बचा शव उतरवाया। शव मात्र कंकाल के रूप में अवशेष रह गया था। पुलिस ने विध्यवासिनी केमायके भटनी थाना क्षेत्र के बनकटा शिव में सूचना भिजवायी।
विन्ध्यवासिनी के पिता गणेश मिश्र पुत्र रघुवंश मिश्र ने मुकामी पुलिस को तहरीर दी। तहरीर में लिखा है कि विंध्यवासिनी की शादी बारह वर्ष पूर्व हुयी थी। इसकी चार बेटियां थी । बेटा न पैदा करने के लिए ससुराल के लोग उसे प्रताड़ित करते थे।
तहरीर के आधार पर पुलिस ने मृतका के पति इन्द्रजीत, श्वसुर फूलेना तिवारी, सास सरस्वती देवी व जेठानी प्रमिला पत्‍‌नी त्रिलोकी नाथ के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस सम्बंध में क्षेत्राधिकारी आलोक कुमार जायसवाल ने कहा अभियुक्तों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

जागरण

No comments: