Total Pageviews

Friday

जांबाज इंस्पेक्टर एमसी शर्मा नहीं रहे

दिल्ली के जामिया नगर में उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ में ज़ख्मी हुए स्पेशल सेल के दो पुलिस कर्मियों में से एक इंस्पेक्टर मोहन चंद्र शर्मा की मौत हो गई है शर्मा को तीन गोलियां लगी थीं। मुठभेड़ में पुलिस में दो आतंकियों को मार गिराया था, जबकि एक आतंकी को हिरासत में लिया था। पुलिस इंस्पेक्टर शर्मा को कई बहादुरी पुरस्कार मिल चुके हैं। उन्हें चार बार राष्ट्रपति सम्मान से नवाजा गया। सात बार उन्हें पुलिस का मेडल भी मिला है। दिल्ली पुलिस के जांबाज शहीद इंस्पेक्टर महेश चंद्र शर्मा पिछले चार दिनों से ऑपरेशन एल-18 पर खुद नजर रख रहे थे, वे अपने फर्ज के प्रति कितने ईमानदार थे इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इन चार दिनों में वे अपने घर नहीं गए, वो भी तब जबकि उनका एकमात्र पुत्र गंभीर रूप से बीमार और अस्पताल में भर्ती है। 1989 को दिल्ली पुलिस सेवा में बतौर सब इंस्पेक्टर भर्ती स्पेशल सेल के ऑफिसर शर्मा 35 आतंककारियों को अपनी गोलियों का निशाना बनाने के साथ ही 81 को सींखचो के पीछे पहुंचा चुके थे। अपराध के प्रति बेहद सख्त शर्मा ने 40 गैंगस्टरों को मार गिराया जबकि 129 उनके कारण गिर्फ्तार किए गए।

9 comments:

Udan Tashtari said...

शहीद जांबाज को नमन एवं श्रृद्धांजलि!!!

MANVINDER BHIMBER said...

mai selute karti hun jaanbaaj ko

डॉ .अनुराग said...

क्या कहे ..शब्द नही है .....शाम तक कुछ उम्मीदे थी.......उस शहीद को लाखो नमन

Sarvesh said...

I salute the brave hero of our country. I pray to his soul rest in peace. His brave work will inspire Indains do their work with passion and honest.

रंजन said...

sham ko khabar suni.. bahut dukhad he.. shradanjili..

अनूप शुक्ल said...

हमारा नमन!

दिनेशराय द्विवेदी said...

श्री एम सी शर्मा को हमारी और से भाव श्रद्धांजलि।

मुनीश ( munish ) said...

what about the martyr's family's humanrights? is there anyone who speaks for them now? Any Shabana Azmi vagairah?

रंजन राजन said...

शहीद जांबाज को हमारा नमन एवं श्रृद्धांजलि!!!