Thursday

जेट से निकाले गए कर्मचारी बहाल होंगे

एक बेहद नाटकीय डेवलपमंट के तहत जेट एयरवेज ने अपने सभी निकाले गए कर्मचारियों को
दोबारा काम पर बुलाने का फैसला किया है। जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल ने गुरुवार देर रात एक प्रेस कॉन्फरन्स में इस बात का ऐलान करते हुए कहा कि जेट के सभी कर्मचारी मेरे परिवार का हिस्सा हैं। बेहद भावुक हो चुके गोयल ने कहा कि मैं अपने लोगों का दर्द समझता हूं। मैं भी जवानी में इस दौर से गुजर चुका हूं। नरेश गोयल ने कहा कि मैंने यह फैसला किसी दबाव में नहीं लिया है। गोयल ने कहा कि इस छटनी और फिर बहाली का किंगफिशर के साथ गठजोड़ से कोई ताल्लुक नहीं है। नरेश गोयल ने कहा कि मुझे किसी सियासी पार्टी या नेता का डर नहीं है, मुझे सिर्फ भगवान और परिवार की फिक्र है। उन्होंने कहा कि मैं दो दिनों से कहीं बाहर था, लेकिन जब मैं वापस आया तो मुझे सारी बात पता चली, जिससे मुझे काफी दुख हुआ। उन्होंने कहा कि मुझे मैनिजमंट ने इस फैसले के बारे में पूरी जानकारी नहीं दी थी। उन्होंने कहा कि मैं अंकगणित, नफा-नुकसान और अर्थशास्त्र के बारे में ज़्यादा नहीं जानता। उन्होंने कहा कि मैं इमोशनल आदमी हूं। मैं अपने परिवार में किसी को भी रोते हुए नहीं देख सकता। सभी कर्मी मेरे बच्चे की तरह हैं। मेरी बेटी 19 साल की है। वह सभी 19-21 साल के हैं। हम सभी उड़ना चाहते हैं। कोई भी ज़मीन पर नहीं आना चाहता है।
नवभारतटाइम्स