Saturday

पराए पति से प्रीति

लिव इन संबंधों को नए कानून के जरिए कानूनी मान्यता प्रदान करने के महाराष्ट्र सरकार के ताजा प्रयास के क्रम में एक बार फिर यह मुद्दा सुर्खियों में है। फिलहाल लिव इन संबंधों पर प्रस्तावित कानून का प्रारूप विचार के लिए महिला आयोग के पास है। प्रस्तावित कानून सिर्फ लिव इन संबंधों को वैधता प्रदान करने तक सीमित नहीं है, बल्कि इसके साथ शादीशुदा पुरुष के साथ किसी महिला के लिव इन संबंध से उपजे कुछ अन्य ज्वलंत सवाल भी जुड़े है।

अन्य क्षेत्रों की तुलना में बॉलीवुड की एक खास सिफत है। वह यह कि यहां पर आपको आकर्षक और कलात्मक प्रतिभा के धनी प्रतिभाशाली पुरुष और महिलाएं कहीं ज्यादा मिलेंगी। इन लोगों का मिजाज कुछ ज्यादा ही रोमांटिक होता है। बॉलीवुड के पुरुष और महिलाएं शूटिंग के सिलसिले में काफी वक्त साथ बिताते है। इस सूरतेहाल में उनके बीच प्रेम-प्रकरण पनप जाता है या वे आपस में शारीरिक आकर्षण के मायाजाल में फँस जाते है। बॉलीवुड में ऐसे अनेक विवाहित एवं अविवाहित अभिनेताओं और अभिनेत्रियों के उदाहरण मौजूद है, जिन्होंने शादी किए बगैर लंबे समय तक प्रेम प्रसंग अथवा लिव इन संबंध कायम रखे। कुछ युगलों ने शादीशुदा होने के बावजूद अपने लिव इन पार्टनर के साथ कानून की नजर में अमान्य दूसरी शादी भी रचायी। इस संदर्भ में ताजा उदाहरण बॉलीवुड की स्वप्न सुंदरी अर्थात हेमामालिनी का दिया जा सकता है। हेमामालिनी ने राज्यसभा के आधिकारिक रिका‌र्ड्स में अपना जो बॉयोडेटा पेश किया, उसमें पति के नाम के आगे उन्होंने धर्मेन्द्र लिखा है। गौरतलब है कि उनके पति धर्मेन्द्र भी लोकसभा के सदस्य है। धर्मेन्द्र ने आधिकारिक रूप से अपना जो बॉयोडेटा पेश किया है, उसमें उन्होंने अपनी पहली पत्नी प्रकाश के साथ विवाहित होने की बात कही है। सरकारी या आधिकारिक दस्तावेजों में यह एक विलक्षण मामला है। बहरहाल हॉलीवुड में कई ऐसी अभिनेत्रियां रही है, जिन्होंने अन्य महिलाओं के पतियों के साथ रोमांस किया। इनमें से कुछ ने दूसरी महिलाओं के पतियों के साथ अंतत: शादी भी रचायी। इस संदर्भ में श्रीदेवी, सारिका और कथित रूप से रानी मुखर्जी आदि के चंद महत्वपूर्ण उदाहरण पेश किए जा सकते है। ऐसी चर्चा है कि रानी मुखर्जी यशराज फिल्म्स के प्रमुख और निर्माता-निर्देशक आदित्य चोपड़ा के साथ रोमांस कर रही हैं।

जागरण से साभार

2 comments:

Udan Tashtari said...

बालीवुड की सिफत...ये तो अलग होनी है चाहे मसल कोई भी हो. :)

कुछ नई जानकारियाँ मिल गई.

ummed Singh Baid "saadahak " said...

वर्जित फल का आकर्षण, दुर्निवार है मित्र.
सेक्स-प्रेम में देखलो, यही दिख रहा चित्र.
सही कहे चल-चित्र , संग से दोष उपजता.
धिक-धिक वह कानून,इसे जो सही समझता.
कह साधक कवि,आग स्वयं उपजाता घर्षण.
दुर्निवार है मित्र,सेक्स का यह आकर्षण.