Thursday

इंटरनेट की लत 'रोग' की श्रेणी में!

चीन दुनिया का पहला ऐसा देश बनने की तैयारी में है, जहां इंटरनेट की लत को आधिकारिक तौर पर एक 'रोग' घोषित किया जाने वाला है। चीन के लोगों द्वारा रोज इंटरनेट पर बिताए जाने वाले समय में वृद्धि के मद्देनजर यह कदम उठाया जा रहा है। इस बीच राजधानी बीजिंग में चिकित्सकों ने इंटरनेट के अत्यधिक इस्तेमाल से होने वाली मनोवैज्ञानिक व शारीरिक समस्याओं पर एक रिपोर्ट भी पेश की है। रिपोर्ट इंटरनेट पर चैट करने वाले 1,300 लोगों के अध्ययन पर आधारित है। रिपोर्ट के अनुसार इंटरनेट की लत से मानसिक व शारीरिक तनाव, चिड़चिड़ापन, अनिद्रा व एकाग्रचितता में कमी जैसी समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। रिपोर्ट में इंटरनेट पर हर दिन छह घण्टे से अधिक समय बिताने व पिछले तीन महीने के दौरान किसी अनियमितता के लक्षण दिखने को व्यसन की श्रेणी में रखा गया है। उल्लेखनीय है कि 2.53 करोड़ इंटरनेट प्रयोगकर्ताओं के साथ चीन दुनिया का सर्वाधिक ऑनलाइन आबादी वाला देश बन चुका है और इसमें काफी तेजी से इजाफा हो रहा है।

3 comments:

Ratan Singh Shekhawat said...

इन्टरनेट की लत रोग है या नही यह तो रिसर्च की बात है हाँ यह नशा या लत जरुर है

Suresh Chiplunkar said...

हाँ नशा तो है, हम भी रोजाना इस नशे का एकाध पैग लगा लेते हैं, और इंटरनेट नामक नशे में एक गोली ब्लॉग लेखन की भी डाल लेते हैं…

Udan Tashtari said...

यहाँ तो हालत ये है कि मानो इन्टरनेट की देशी पूरी बोतल उतार ली हो. :)